About Us

संस्था-परिचय

श्री गंगानगर के ह्रदय स्थल सुखाड़िया सर्किल के पास स्थित आधुनिक सुवाधाओं युक्त सेठ.जी.बिहाणी एस.डी.सी.सै. स्कूल की स्थापना 1951 में हुई। प्रथम संस्थापक प्राचार्य के रूप में पं.ताराचंद जी शर्मा ने इस विद्यालय का मार्गदर्शन किया और विद्यालय का मार्गदर्शन किया और विद्यालय को प्रतिष्ठा दिलाने में कोई कसर नहीं छोड़ी। सेठ गिरधारी लाल बिहाणी जी ने दो मुरब्बे भूमि एवं एक लाख रूपये दान देकर प्राथमिक विद्यालय के रूप में एक छोटा पौधा लगाया जो आज कल्पवृक्ष के रूप में अपनी पहचान बना चुका है।

वर्तमान में विद्यालय कला, वाणिज्य, विज्ञान व कृषि विज्ञान संकायों में अपने उत्कृष्ट परीक्षा परिणामों एवं खेल प्रतिभाओं के बल पर जिलें मे अपनी विशिष्ट पहचान रखता है।

विद्यालय: एक विहंगम दृष्टि

  • उद्देश्य: आधुनिक एवं संस्कार युक्त शिक्षा हिन्दी व अंग्रेजी दोनों माध्यम उपलब्ध है।
  • शहर के हृदय स्थल में स्थित विद्यालय विद्यार्थियों के सर्वांगीण विकास के प्रति सन्नद्ध होनेके कारण आकर्षण का केन्द्र।
  • सन् 1951 से ज्ञानार्जन का प्रमुख संस्थान। अपने उत्कृष्ट परीक्षा परिणाम से क्षेत्र में विशेष
    स्थान।
  • कला, वाणिज्य, कृषि विज्ञान एवं विज्ञान संकायों में विद्वत शिक्षक मण्डल द्वारा अध्यापन।
  • आधुनिक तकनीक से सुसज्जित प्रयोगशालाएं एवं पुस्तकालय।
  • जीव-विज्ञान, भौतिक विज्ञान, रसायन विज्ञान, भूगोल, कृषि विज्ञान एवं कम्प्यूटर विषयों की आधुनिक सुविधाओं व उपकरणों से परिपूर्ण प्रयोगशालाएं जिनमें वर्षपर्यंत विद्यार्थी व्यावहारिक ज्ञान प्राप्त करतें हैं।
  • सुसज्जित कम्प्यूटरीकृत विशाल पुस्तकालय तथा सुव्यवस्थित वाचनालय, लगभग 35000 पुस्तकें एवं राष्ट्रीय स्तर की शोध एवं अन्य पत्र-पत्रिकाएं उपलब्ध।
  • विस्तृत खेल मैदान, राज्य स्तरीय एवं राष्ट्रीय स्तर पर खिलाड़ी , विद्यार्थियों द्वारा पदक प्राप्त।
  • निरन्तर जेट, पी.एम.टी., पी.ई.टी. व अन्य प्रतियोगी परीक्षाओं में विद्यार्थियों का चयन।
    विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विभाग भारत सरकार की ओर से विद्यालय विज्ञान केन्द्र व राजीव
  • गाँधी विज्ञान क्लब की स्थापना जिसमें विद्यार्थियों में वैज्ञानिक जागरूकता हेतु समय-समय पर शिविरों का आयोजन।
  • एन.सी.सी., एन.एस.एस., स्काउट व गाईड तथा सांस्कृतिक विभाग द्वारा संचालित शिक्षणेत्तर सहगामी प्रवृत्तियां उपलब्ध।
  • विद्यालय का पूर्णतया कम्प्यूटरीकरण, जिसमें विद्यार्थियों एवं अभिभावकों को आवष्यक सूचनाएँ इस माध्यम से भी दी जाती है।
  • भूतपूर्व प्राचार्य श्री लालचन्द शर्मा एवं भूतपूर्व प्राचार्य श्री हरीसिंह राठौड़ शिक्षा के क्षेत्र में उल्लेखनीय योगदान के लिए राज्य स्तरीय पुरस्कार से सम्मानित हो चुके हैं।
    ADDRESS

    Suratgarh Road, Near Sukhadia Circle, Sri Ganganagar, 335001

    PHONE

    0154- 2466778

    EMAIL

    bihanischool@yahoo.in